नर्मदापुरम में आईपीएल क्रिकेट का सट्टे का बड़ा कारोबार

प्रतीक पाठक
नर्मदापुरम ।
शहर में इन दिनों आईपीएल का क्रिकेट का सट्टा जमकर चल रहा है। चुनाव आचार संहिता के चलते पुलिस सडक़ों पर, अपराधों की रोकथाम, अपराधियों की धरपकड़ और कानून व्यवस्था की आदर्श स्थिति बनाए रखने के लिए विभिन्न स्तरों पर प्रयास किए जा रहे हैं। आदतन बदमाशों पर नजर रखी जा रही है। मुखबिर तंत्र सक्रिय है तो जगह जगह फ्लेग मार्च निकाले जा रहे हैं। इन सबके बावजूद हाईटेक बदमाशों पर पुलिस की इस सख्ती का कोई असर नहीं नजर आ रहा है। शहर में रोजाना आईपीएच मैच पर लाखों का सट्टा खिलाया जा रहा है। खाईबाज अलग अलग स्थानों पर बैठकर मोबाइल के माध्यम से लोगों से लाखों रुपए के दांव लगवा रहे हैं। क्रिकेट के जुनून और थोड़ा लगाकर ज्यादा कमाने के लालच में युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है। पुलिस को आईपीएस सट्टा खाईबाजी की भनक तो है लेकिन खाईबाजों की लोकेशन पकड़ में नहीं आ रही है । यही कारण है कि यह काम मोबाइल पर बैखोफ होकर चल रहा है। इन मास्टर माइंडो के द्वारा एक आनलाईन आईडी दी जाती है जिसके माध्यम से खिलाड़ी को जोड़ते है और अपना स्वयं का आनलाइन एप बनाकर यह आईपीएल सट्टे का कारोबार चला रहे है। आईपीएल खिलाने वाले शहर के खिलाड़ी आईपीएल खिलाने वाले यह मास्टरमाइंड खाईबाज खिलाड़ी का नेटवर्क इतना मजबूत है कि इन लोगों ने होशंगाबाद ही नहीं शहर के चार-पांच जिले भी कर कर रखे हैं जिसमें हरदा, बैतूल, रायसेन सहित अन्य जिले में भी इनका बड़ा जाल बिछा हुआ है और यह खिलाड़ी लोगों को बराबर मोबाइल से जोड़ते हैं और खेल खिलाते में मास्टरमाइंड छात्र हैं।

रखते हैं मोबाइल और लैपटॉप, बदलते रहते हैं लोकेशन

आईपीएल का खेल खिलने वाले यह खाईबाजी अपने पास मोबाइल लैपटॉप और कुछ नगद कैसे भी रखते हैं और खेलने वालों से आनलाइन संपर्क में रहते हैं। खास बात यह है कि खाईबाज अलग अलग स्थानों पर बैठते हैं और अपनी लोकेशन बदलते रहते हैं ताकि मुखबिरी होने के बाद भी पुलिस से बचे रहें। इस खेल में शहर का एक सबसे बड़ा गुरु नाम का व्यक्ति शामिल है। पूर्व में इस मास्टरमाइंड गुरु पर और उसके साथी पर बुदनी में अपराध पंजीयन हुआ था। कुछ नगदी लैपटॉप मोबाइल भी जप्त किए थे, यह आईपीएल सट्टा एक फार्म हाउस से खिलाया जा रहा था एक दूसरा मास्टर माइंट छुटी नामक व्यक्ति है। जिसके खिलाफ थाने में प्रकरण भी दर्ज है। इसके अलावा इसके अन्य साथी भी इसके साथ शामिल है । मालूम हो कि लगभग आधे दर्जन लोग की एक टीम बनी हुई है जो शहर में आईपीएल सट्टे का कारोबार चला रहे है ।

इनका कहना

आईपीएल सट्टा ऑनलाइन माध्यम से खिलाया जा रहा है तो इस पूरे मामले की डिटेल चैक करवा कर जांच कराएंगे और इस मामले में पुलिस की पूरी नजर है । ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी ।

डॉ गुरूकरण सिंह
पुलिस अधीक्षक
नर्मदापुरम

इनका कहना

यह काम ऑनलाइन होता है। इसमें हमारी साइबर टीम लगी हुई है। शिकायत मिलती है तो जरूर कार्रवाई की जाएगी। साइबर टीम नजर रखे हुए हैं।

पराग सैनी
एसडीओपी नर्मदापुरम

Spread the love